आयुर्वेद

समय पर जांच कराएं तो बचा जा सकता है दृष्टिहीनता से : स्वामी दिव्यानंद महाराज

समय पर जांच कराएं तो बचा जा सकता है दृष्टिहीनता से : स्वामी दिव्यानंद महाराज

मंथन आई हैल्थकेयर का निशुल्क नेत्रों जांच शिविर

गुडग़ांव: दुनिया को देखने के लिए आंखों का ही सहारा है, लेकिन विडंबना तो यह है कि देश में लाखों में नहीं करोड़ों लोग इस दृष्टिहीनता के शिकार होकर स्वयं में हीनता का शिकार हो रहे हैं। चिकित्सा विशेषज्ञों के अनुसार दृष्टिहीनता के बहुत कारण हैं। यदि समय पर आंखों का इलाज करा लिया जाए तो दृष्टिहीनता से बचा जा सकता है। उक्त उद्गार सामाजिक संस्था मंथन आई हैल्थकेयर फाउण्डेशन द्वारा श्रीगीता सेवा साधना समिति के सहयोग से शनिवार को ज्योति पार्क स्थित श्रीगीता आश्रम में आयोजित नेत्र जांच एवं स्क्रीनिंग शिविर का शुभारंभ करते हुए तपोवन हरिद्वार के गीता ज्ञानेश्वर डा. स्वामी दिव्यानंद महाराज ने व्यक्त किए।
उन्होंने मंथन के नेत्र विशेषज्ञ डा. सुमित ग्रोवर के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि मरणोपरांत नेत्रदान का अवश्य संकल्प लें और सहमति आवेदन भरकर औपचारिकताएं पूरी करें। संस्था के बीआर ग्रोवर व राजेश गाबा ने बताया कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारी राजेश दुग्गल व देवेंद्र भुटानी ने दीप प्रज्जवलित कर शिविर का शुभारंभ किया। 215 रोगियों ने अपने नेत्रों की जांच कराई। जिन मरीजों के आंखों के ऑपरेशन होने हैं, उनकी पहचान कर उनके ऑपरेशन की व्यवस्था भी कराई गई। डा. सुमित ग्रोवर ने शिविर में आए मरीजों को आंखों की बीमारियों के प्रति जागरुक करते हुए कहा कि काला मोतिया की समस्या भी बहुत बड़ी समस्या है। यदि इसका समय पर इलाज करा लिया जाए तो अंधेपन से बचा जा सकता है। उन्होंने बताया कि डा. पूनम गुप्ता, डा. सुनील दीक्षित, डा. गौरव भारती, डा. अंशुल, डा. आशीष भटनागर, डा. रितेश, डा. मंसूर मोहम्मद व उनकी टीम का शिविर को सफल बनाने में बड़ा सहयोग रहा।

Supported by Sh. Ashok Chauhan

Facebook Comments

You may also like