साप्‍ताहिक कार्यक्रम

संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन द्वारा रविवार को भारतवर्ष में होगी  430 शहरों के 1200 सरकारी अस्पतालों की सफाई

संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन द्वारा रविवार को भारतवर्ष में होगी

430 शहरों के 1200 सरकारी अस्पतालों की सफाई

गुरुग्राम के सिविल अस्पतालों की होगी सफाई

सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज के पावन आशीर्वाद से निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी महाराज के जन्म दिवस 23 फ़रवरी रविवार को गुरुग्राम सहित भारतवर्ष में 1200 सरकारी अस्पतालों में सफाई की जाएगी।

स्वच्छ भारत अभियान के ‘ब्रांड एम्बैसडर’ संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन के तत्वावधान में यह विशाल सफाई अभियान चलाया जायेगा। इसमें देश के 430 से अधिक शहरों में 1200 सरकारी अस्पतालों के कंपाउंड व पार्क आदि शामिल होंगे। इस सफाई अभियान में लगभग साढ़े तीन लाख फाउंडेशन के स्वयंसेवक, संत निरंकारी सेवादल तथा मिशन के अन्य सक्रिय कार्यकर्ता, भक्त आदि भाग लेंगे।

गुरुग्राम जिला के सिविल अस्पतालों गुरुग्राम, सोहना, हेली मंडी में रविवार को इस सफाई अभियान का शुभारम्भ प्रार्थना से प्रात: 8 बजे होगा। इसके साथ ही उपस्थित वालंटियर सेवादारों सहित अनेकों पुरुष और महिला भक्तजन सफाई प्रारंभ कर देंगे। निरंकारी सेवादल के सदस्यों के लिए यह सेवा का सुअवसर होता है तथा वे इसमें बढ़ चढ़ कर भाग लेते हैं।

इस सफाई अभियान का नेतृत्व गुरुग्राम ब्रांच के संयोजक एम सी नागपाल करेंगे। उन्होंने बताया कि सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज के आशीर्वाद से निरंकारी मिशन द्वारा नागरिक अस्पताल सेक्टर 10 ए, सोहना एवं हेली मंडी स्थित सरकारी अस्पताल आदि पर यह सफाई अभियान 12 बजे तक चलेगा।

देश के विभिन्न क्षेत्रों में अस्पताल और डिस्पेंसरी के अलावा वहां के सार्वजनिक पार्कों में सफाई और पौधारोपण अभियान चलाया जायेगा। प्रत्येक शहर में सभी फाउंडेशन स्वयंसेवक और निरंकारी सेवादल सदस्य अपनी अपनी वर्दी में होंगे। वे सभी सक्रिय सदस्यों, भक्तों के साथ प्रात: 7.30 बजे एक स्थान पर एकत्र होंगे और मिलकर प्रार्थना करने के बाद इस सफाई अभियान में जुट जायेंगे।

‘प्रदुषण अन्दर हो या बाहर, दोनों हो हानिकारक हैं’ निरंकारी भक्त इसलिए मन और वातावरण को स्वच्छ रखने में प्रयासरत रहते हैं। मानवीय जीवन का अर्थ ही यही है कि दूसरों के लिए काम आया जाये। अध्यात्म की दृष्टि में मन व आत्मा की सफाई प्रभु निरंकार को स्मरण करने तथा इसके सत्संग से हो जाती है। इसके साथ आस-पास के वातावरण को सुंदर व स्वच्छ रखना आवश्यक होता है, इसी उदेश्य से यह सफाई अभियान चलाये जाते हैं।

मिशन को मानवता की सेवा के प्रति इस विशाल योगदान के लिए मान्यता प्रदान करते हुए भारत सरकार ने सितम्बर, 2015 में इसे ’स्वच्छ भारत अभियान’ का ‘ब्रांड एम्बैसडर’ घोषित किया। भारत सरकार के शहरी विकास मंत्रालय ने जून, 2017 में भी संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन को ‘शहरी स्वच्छता हुर्रे अवार्ड’ से सम्मानित किया।

संत निरंकारी मिशन 2003 से हर वर्ष निरंकारी बाबा हरदेव सिंह जी महाराज के जन्म दिवस 23 फरवरी को देशभर में सफाई अभियान चलाता आ रहा हैं। वर्ष 2010 में संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन के गठन के बाद, ये अभियान फाउंडेशन के तत्वावधान में आयोजित किये जा रहे हैं। फाउंडेशन स्वास्थ्य, शिक्षा, व्यवसायिक प्रशिक्षण के क्षेत्रों में समाज के प्रति महत्वपूर्ण योगदान देता आ रहा है। जब से ’स्वच्छ भारत अभियान’ आरंभ हुआ, फाउंडेशन की ओर से भी प्रतिवर्ष अतिरिक्त सफाई अभियान आयोजित किये जाते हैं और राष्ट्रीय स्मारकों, समुद्र, नदियों तथा घाटों के तटों, रेलवे स्टेशनों, अस्पतालों, पार्कों तथा अन्य सार्वजनिक स्थानों पर विशेष ध्यान दिया जाता रहा है।

Facebook Comments

You may also like